×

replicate in a sentence

pronunciation: [ [ 'replikit ] ]
replicate meaning in Hindi

Examples

  1. Under the old nation-state paradigm, the lesson of Auschwitz was “Never again,” meaning that a strong Israel was needed to protect Jews. The new paradigm leads to a very different “Never again,” one which insists that no government should have the means potentially to replicate the Nazi outrages. According to it, Israel isn't the answer to Auschwitz. The European Union is. That the old-style “Never again” inspires Israelis to pursue the Western world's most unabashed policy of self-defense makes their actions particularly appalling to New Paradigmers. Need one point out the error of ascribing Nazi outrages to the nation-state? The Nazis wanted to eliminate nation-states. No less than Kant, they dreamed of a universal state,. New Paradigmers mangle history.
    पुराने राष्ट्र राज्य अवधारणा के स्तर के अनुरूप आसविज की शिक्षा थी कि “ फिर कभी नहीं” इसका अर्थ था कि यहूदियों की सुरक्षा के लिये एक सशक्त इजरायल की आवश्यकता । नये स्तर के अनुसार इसी “फिर कभी नहीं” की एक दम नयी व्याख्या हो सकती है जो इस बात पर जोर देती है कि फिर इसी भी सरकार के पास ऐसी स्थिति नहीं होनी चाहिये कि वह फिर से नाजी को दुहरा सके। इसके अनुसार इजरायल आसविज का उत्तर नहीं है। यूरोपियन यूनियन है। पुरानी प्रणाली का “ फिर कभी नहीं” इजरायल को इस बात के लिये प्रेरित करता है कि वे पश्चिमी जगत की आत्मरक्षा की क्षमाभाव की नीति के आधार पर नये स्तरवालों को इस भयावहता का आभास करायें।
  2. The Kingdom of Saudi Arabia is no ordinary state. Its power lies in a unique combination of Wahhabi doctrine, control over Mecca and Medina, and oil and gas reserves. In addition, its leaders boast an exceptional record of outside-the-box policies . Still, geographical, ideological, and personnel differences among Saudis could cause its fall; the key would then be to whom. Shi'ites who resent their second-class status and would presumably move the country towards Iran? Purist Wahhabis, who scorn the monarchical adaptations to modernity and would replicate the Taliban order in Afghanistan? Or both in the case of a split? Or perhaps liberals, hitherto a negligible force, who find their voice and lead an overthrow of the antiquated, corrupt, extremist Saudi order?
    सउदी अरब का राज्य कोई सामान्य राज्य नहीं है। इसकी शक्ति वहाबी सिद्धांत. मक्का मदीना पर नियन्त्रण तथा गैस और तेल के संचितों के अद्भुत समन्वय पर आधारित है। इसके अतिरिक्त इसके नेता अप्रत्याशित नीतियों के अनुसार पूर्व में भी चलने का दावा करते रहे हैं। लेकिन इसके बाद भी भौगोलिक, वैचारिक तथा व्यक्तिगत मतभेद सउदी पतन का कारण बन सकते है, प्रमुख प्रश्न तब होगा कि किस ओर? शिया जो कि अपनी द्वितीय श्रेणी की नागरिकता से विद्रोह की स्थिति में हैं वे देश को सम्भवतः ईरान की ओर मोड देंगे? शुद्धतावादी वहाबी जो कि राजशाही में आधुनिकता के विरोधी हैं वे अफगानिस्तान की तालिबान व्यवस्था को संस्करण लायेंग़े? या फिर दोनों में विभाजन की स्थिति होगी? या फिर सम्भवतः उदारवादी जो कि नगण्य है वे अपनी आवाज बुलंद कर सकेंगे और पुरानी , भ्रष्ट और अतिवादी सउदी व्यवस्था को उख़ाड सकेंगे?
More:   Prev  Next


PC Version
हिंदी संस्करण


Copyright © 2021 WordTech Co.