×

proceeds in a sentence

pronunciation: [ [ 'prəʊsi:dz ] ]
proceeds meaning in Hindi

Examples

  1. The chapter proceeds with a one-page sketch of Muslim history that includes this observation: “At the present time there are no strong Moslem states. The leadership of the Moslem world remains in the Middle East, particularly in Arabia.” Given the backwardness of Arabia in 1946, this statement was either very ill-informed or very prescient.
    1946 में अरब के पिछड़ेपन की बात करना या तो नासमझी है या जानबूझकर दिया गया वक्तव्य है.
  2. There are some taxes and duties in the Union List which are levied and collected by the Union but their proceeds are distributed between the Union and the States .
    संघ सूची में शामिल आयकर तथा उत्पादन-शुल्क जैसे कुछ करों का उद्ग्रहण तथा संग्रह तो संघ करता है लेकिन उनके आगमों का वितरण संघ एवं राज्यों के बीच किया जाता है .
  3. The Indian Tea Association was formed in 1899 with this purpose in view , and the proceeds of a small cess imposed on the sale and exports of tea were made over to the Association .
    सन् 1899 में इंडियन टी एसोसिएशन की स्थापना इसी उद्देश्य से की गयी.चाय की बिक्री और निर्यात की आय पर सीमित शुल्क लगाया गया और यह शुल्क एसोसिएशन को दिया गया .
  4. The proceeds of all the taxes levied by the State are fully retained by the concerned States themselves while taxes in the Union List may be in part allotted to the States .
    उसके अनुसार राज्य द्वारा उद्गृहीत सभी करों के आगम संबद्ध राज्य पूर्णतया स्वयं अपने पास रखेंगे जबकि संक्ष सूची में शामिल कर अंशतया राज्यों को आवंटित किए जा सकते हैं .
  5. Then he proceeds , prepares -LRB- and takes -RRB- his food on the day before the fast-day at noon , cleans his teeth by rubbing , and fixes his thoughts on the fasting of the following day .
    इसके बाद वह व्रत की तैयारी करता है ओर व्रत के एक दिन पहले दोपहर के समय अपना भोजन बनाकर करता है , दातुन करके अपने दांत मांजता है और अपना चित्त अगले दिन के व्रत पर स्थिर कर देता है .
  6. Scepticism itself , when it proceeds from vigorous natures true to the core , when it is an expression of strength and not of weakness , joins in the march of the Grand Army of the religious Soul . ”
    नास्तिकता भी , जब वह बलवती प्रवृत्तियों से होकर मूल की ओर बढ़ती है , जब वह किसी निर्बलता की नहीं , शक़्ति की अभिव्यक़्ति होती है , तब वह धार्मिक आत्मा की महान सेना के प्रमाण में शामिल हो जाती है .
  7. When any unwary victim stumbles near it the mantid snaps out its forelegs and grips the prey , holding it firmly and calmly proceeds to eat it alive -LRB- Figure 13 -RRB- .
    जब कोऋ असावधान शिकार भूल से इनके पास आने की गलती कर बैठता है तो मेनऋ-ऊण्श्छ्ष्-टिड अपनी अगली टांगें झटके से निकाल लेते हैं और शिकार को जकडऋ लेते हैं.उसे मजबूती से पकडऋए रह कर शांतिपूर्वक उसे ऋंदा खाते हैं ह्यचित्र 13हृ
  8. While these liabilities are likely to be settled , partly through negotiations and partly out of post-closure sale proceeds of the company 's fixed assets , the Centre will still have to explain why it allowed the cash bleeding to continue for so many years .
    ये देनदारियां कुछ तो बातचीत से और कुछ कंपनी को बंद करने के बाद उसकी अचल संपैत्तयों को बेचकर चुकाई जा सकती हैं , मगर केंद्र को यह जवाब देना होगा कि उसने इतने वर्षों तक खजाने को चपत क्यों लगने दी .
  9. “ Only as the time process goes on , ” Needham continues , ” only as the cosmic mixing proceeds , only as the temperature of the world cools , do the higher forms of aggregation , the higher patterns and levels of organisation , become possible and stable .
    निधम ने आगे कहा है ” जैसे-जैसे समय की प्रक्रिया आगे बढ़ती है , ब्रह्मांड में चल रहा सम्मिश्रण का काम भी आगे बढ़ता है तथा जैसे-जैसे धरती का तापमान घटता है , वैसे-वैसे जीवों के स्थिर तथा उच्च रूपों का बनना संभव होता है .
  10. Abu-Yakub of Sijistan maintains in his book , called The disclosing of that which is veiled , that the species are preserved ; that metempsychosis always proceeds in one and the same species , never crossing its limits and passing into another species .
    सिजिस्तान के अबू याकूब ने अपनी पुस्तक ? कश्फ़-उल-महजूब ? ( रहस्योद्घाटन ) में कहा है कि प्रजातियां या योनियां सुरक्षित रहती हैं और पुनर्जन्म का क्रम हमेशा एक ही प्रकार की योनियों में होता है , न वह कभी अपनी सीमा का अतिक्रमण करता है और न ही दूसरी योनियों में जाता है .
More:   Prev  Next


PC Version
हिंदी संस्करण


Copyright © 2021 WordTech Co.