×

distinctive in a sentence

pronunciation: [ [ dis'tiŋktiv ] ]
distinctive meaning in Hindi

Examples

  1. So whether you want to know which schools are available for your children , which homes can care for your elderly relatives or the time of your next bus home , you can be sure of a courteous welcome and helpful service , whereever you see the distinctive yellow County Information Centre sign .
    अगर आप जानना चाहते है कि आपके बच्चों के लिए कौन सी पाठशालाएं उपलब्ध है , कौनसे घर आपके बुज़ुर्ग रिश्तेदारों का ध्यान रख सकते है या आपके घर जाने वाली अगले बस का समय क्या है तो जहां पे भी आप अलग पिले कौन्टी माहिती केन्द्रों के चिन्ह देखेंगे वहां पे आपका निश्चित रुप से विनम्र स्वागत और सहायता सेवाएं मिलेंगी |
  2. So whether you want to know which schools are available for your children , which homes can care for your elderly relatives or the time of your next bus home , you can be sure of a courteous welcome and helpful service , whereever you see the distinctive yellow County Information Centre sign .
    अगर आप जानना चाहते है कि आपके बच्चों के लिए कौन सी पाठशालाएं उपलब्ध है , कौनसे घर आपके बुज़ुर्ग रिश्तेदारों का ध्यान रख सकते है या आपके घर जाने वाली अगले बस का समय क्या है तो जहां पे भी आप अलग पिले कौन्टी माहिती केन्द्रों के चिन्ह देखेंगे वहां पे आपका निश्चित रुप से विनम्र स्वागत और सहायता सेवाएं मिलेंगी |भाष्;
  3. This House is of the opinion that the emerging pattern of different linguistic and ethnic groups as distinctive political entities in the body politic of our country necessitates restructuring of financial and other relations between the Centre and the State and , therefore , resolves that the relevant provisions of the Constitution be amended suitably .
    27 ? इस सभा की राय है कि हमारे देश की राजनीतिक व्यवस्था में विभिन्न भाषाई एवं जातिगत ग्रुपों के अलग राजनीतिक इकाइयों के रूप में उभरने से यह आवश्यक हो गया है कि केंद्र और राज़्यों के वित्तीय एवं अन्य संबंधों का ढांचा पुनर्गठित किया जाए और इसलिए संकल्प करती है कि संविधान के संगत उपबंधों में उपयुक़्त संशोधन किए जाएं
  4. In combination, these several crises - ecological, economic, political, ideological - could prompt a mass, unprecedented, and tragic exodus out of Yemen, leading to an epic anti-Yemeni backlash. On a personal note: I was fascinated by Yemen on a visit as a student in 1972. A land so difficult of access that colonial powers only lapped at its edges, it managed to keep its customs, including a spectacular style of architecture and a distinctive culture of dagger-wearing men and most adults chewing qat .
    आर्थिक स्थिति के सिकुडने की सम्भावना दिनों दिन बढ्ती ही जा रही है। तेल की आपूर्ति तो इस स्तर तक घट गयी है कि, “ ट्रक और बस पेट्रोल स्टेशन पर बढी संख्या में लोग घन्टों तक भीड में लगे रहते हैं , जबकि जल की कमी और बिजली की कटौती तो रोजमर्रा का अंग बन चुका है” । उत्पादक गतिविधि अपेक्षाकृत पतनोन्मुख है।
  5. More interestingly, the book demonstrates how easily a prominent analyst can misread the big picture. As suggested by its title, one theme concerns the existence of a single Arab people from Morocco to Iraq, a people so tradition bound that Stewart resorts to an animal analogy: “the Arabs possess a distinctive common culture which they can no more throw off than a hummingbird can change its nesting habits to those of a thrush.” Ignoring the Arabs' failed record to unify their countries, Stewart predicted that “whatever happens, the forces for [Arab] union will remain.” Hardly: that urge died not long after 1962 and has long remained defunct, as has its shallow premise that the Arabic language alone defines a people, ignoring history and geography.
    जैसा कि इसके शीर्षक से स्पष्ट है कि पुस्तक की विषयवस्तु मोरक्को से इराक तक एक अरब जन का अस्तित्व है ऐसे लोग जो कि इस प्रकार परम्परा से आबद्ध हैं कि स्टीवर्ट ने पक्षी इसकी तुलना करते हुए लिखा है, “ अरबवादियों की एक अलग सामान्य संस्कृति है जिसे वे इसे हमिंग पक्षी के घोंसले की भाँति चाह कर भी हर बार फेंक नहीं सकते” अरबवासियों द्वारा अपने देशों को एक रख पाने में असफल रहने के पिछले रिकार्ड की अवहेलना करते हुए स्टीवर्ट भविष्यवाणी करते हैं कि, “ कुछ भी हो अरब संघ की शक्ति बनी रहेगी”। 1962 के बाद शायद ही ऐसा सम्भव रह सका कि अरबी भाषा ही केवल जन की परिभाषा कर सकी और इतिहास और भूगोल नकार दिये गये।
  6. Should Westerners accept this imbalance, the dhimmi status will follow. This Islamic concept permits “people of the book,” monotheists such as Christians and Jews, to continue to practice their religion under Muslim rule, subject to many restrictions. For its time, the dhimmi status offered certain benefits (until as recently as 1945, Jews generally had better lives in Islamdom than in Christendom), but it is intended to insult and humiliate non-Muslims, even as it exalts Muslims' superiority. Dhimmi s pay additional taxes, may not join the military or the government, and suffer from encompassing legal disabilities. In some times and places, dhimmi s could ride on a donkey but not on a horse, wore distinctive clothing, and an elderly dhimmi on the street was required to jump out of the way of a Muslim child. Elements of the dhimmi status have recently been applied in such varied places as Gaza, the West Bank, Saudi Arabia, Iraq, Iran, Afghanistan, Pakistan, Malaysia, and the Philippines. Clearly, Londonistan and beyond are also in their sights.
    क्या पश्चिमी लोगों को इस असंतुलन को स्वीकार करना चाहिये, इससे तो धिम्मी स्थिति बरकरार रहेगी। इस इस्लामी अवधारणा के अनुसार , “ पुस्तकीय लोग” एकेश्वरवादी जैसे ईसाई और यहूदी मुस्लिम शासन में अपने मजहब का पालन करें और उन पर अनेक अवरोध भी होंगे। इस समय में धिम्मी स्थिति के अनेक लाभ भी हैं ( 1945 तक यहूदी ईसाई क्षेत्र की अपेक्षा इस्लाम क्षेत्र में अधिक सुविधायें प्राप्त करते थे)परंतु इसका प्रमुख आशय गैर मुस्लिमों को अपमानित और लाँक्षित करना है और यहाँ तक कि यह मुस्लिम सर्वोच्चता को स्थापित करना है।
More:   Prev  Next


PC Version
हिंदी संस्करण


Copyright © 2021 WordTech Co.