×

bill clinton sentence in Hindi

"bill clinton" meaning in Hindi  bill clinton in a sentence  

Examples

  1. Weak and largely indifferent presidents like Jimmy Carter and Bill Clinton mattered despite themselves, for example in the Iranian revolution of 1978-79 or the Arab-Israeli conflict in the 1990s. Strong and active presidents like Ronald Reagan and George W. Bush had greater impact yet, speeding up the Soviet collapse or invading Afghanistan and Iraq.
    कमजोर और बडे पैमाने पर कम रुचि रखने वाले राष्ट्रपति जिमी कार्टर और बिल क्लिंटन अपनी सारी कमियों के बाद भी अपनी आवाज रखते थे , उदाहरण के लिये 1978 -79 में ईरानी क्रांति या 1990 में अरब इजरायल संघर्ष का विषय रहा हो। मजबूत और सक्रिय राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन और जार्ज डब्ल्यू बुश का कहीं अधिक प्रभाव था जैसे कि सोवियत पतन को तीव्र करना या अफगानिस्तान और इराक पर विजय प्राप्त करना।
  2. Fleischer did not mention Bill Clinton by name, but the former president's office immediately issued a statement condemning Fleischer's comments as “unfortunate.” Under pressure from President Bush himself, as well as Colin Powell and Condoleezza Rice, Fleischer quickly back-pedaled. “I mistakenly suggested that increasing violence in the Middle East was attributable to the peace efforts that were underway in 2000. That is not the position of the administration.”
    फ्लेचर ने बिल क्लिंटन का नाम तो नहीं लिया परंतु पूर्व राष्ट्रपति के कार्यालय ने तत्काल फ्लेचर के बयान की निंदा करते हुए एक बयान जारी किया और इन्हें “ दुर्भाग्यपूर्ण” बताया। राष्ट्रपति बुश , कोलिन पावेल और कोंडोजिला राइस के दबाव के चलते वे अपने बयान से पलट गये और कहा, “ मैंने यह गलत कह दिया कि मध्य पूर्व में हिंसा की वृद्धि का कारण 2000 में हुआ शांति प्रयास था । यह प्रशासन की राय नहीं है” ।
  3. Sadly, standing up to the mullahs has never been American policy. Jimmy Carter meekly accepted their rule. Ronald Reagan sent them arms. To win their favor, Bill Clinton put the MEK on the terrorism list. George W. Bush did not foil their nuclear weapons project. And Barack Obama hopes to gain concessions from Tehran on the nuclear weapons issue by distancing himself from the dissidents.
    दुख की बात है कि मुल्लाओं के सामने डट कर खडा होना कभी भी अमेरिका की नीति नहीं रही। जिमी कार्टर ने झुककर उनका शासन स्वीकार कर लिया। रोनाल्ड रीगन ने उन्हें हथियार भेजा। उनका साथ पाने के लिये बिल क्लिंटन ने एमईके को आतंकवादी सूची में डाल दिया। जार्ज डब्ल्यू बुश ने उनके परमाणु हथियार प्रकल्प को बीच में नहीं ध्वस्त किया। अब बराक ओबामा विरोधियों से दूरी बनाकर परमाणु हथियार कार्यक्रम में तेहरान से रियायत प्राप्त करने की आशा सँजोये हैं।
  4. Just as the Arab-Israeli theater has provided some of the peak and trough moments of recent presidencies, it could well leave its marks on this one. Jimmy Carter's single finest moment was the Camp David agreement between Egypt and Israel in 1978. Ronald Reagan's worst moment was withdrawing American troops from Lebanon in 1984. Bill Clinton enjoyed the triumph of the Oslo accord signing in 1993 and suffered signal failure with the collapse of the Camp David talks in 2000.
    जैसा कि आज तक के राष्ट्रपतीय काल में अरब-इजरायल कूटनीति ने अनेक उतार-चढ़ाव के अवसर दिये हैं वैसा ही इस बार भी है। 1978 में जिमी कार्टर के समय में मिस्र और इजरायल के मध्य कैम्प डेविड में समझौता एक बेहतरीन क्षण था। 1984 में लेबनान से अमेरिकी सेना की वापसी का रोनाल्ड रीगन का निर्णय बुरा क्षण था। बिल क्लिंटन ने 1993 में ओस्लो समझौते पर हस्ताक्षर कर प्रसन्नता अर्जित की तो 2000 में कैम्प डेविड शिखर वार्ता असफल होते भी देखा।
  5. President Bill Clinton lauded it as a “great occasion of history.” Secretary of State Warren Christopher ruminated on how “the impossible is within our reach.” Yasir Arafat called it an “historic event, inaugurating a new epoch.” Foreign Minister Shimon Peres of Israel discerned in it “the outline of peace in the Middle East.” The press hyped it, providing saturation coverage on television and radio, in newspapers and magazines. Pundits like Anthony Lewis of The New York Times called it “ingeniously built” and “stunning.”
    दस वर्षों के उपरांत उसी गर्व और उंची उठती अपेक्षाओं को प्राप्त करना जिल्लत भार होगा। राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने इसकी प्रशंसा इतिहास के एक महान अवसर के रुप में की थी । राज्य सचिव वारन क्रिस्टोफर ने इस मध्यस्थता पर कहा कि किस प्रकार असंभव हमारी परिधि में है । यासर अराफात ने इसे ऐतिहासिक घटना बताते हुए अत्यंत महत्वपूर्ण आरंभ बताया था । इजरायल के विदेश मंत्री शिमोन पेरेज ने इसमें मध्यपूर्व में शांति की रुप रेखा के दर्शन किए थे ।
  6. Even worse, in 1997 when an Israeli woman distributed a poster of Muhammad as a pig , the American government shamefully abandoned its protection of free speech. On behalf of President Bill Clinton, State Department spokesman Nicholas Burns called the woman in question “either sick or … evil” and stated that “She deserves to be put on trial for these outrageous attacks on Islam.” The State Department endorses a criminal trial for protected speech? Stranger yet was the context of this outburst. As I noted at the time , having combed through weeks of State Department briefings, I “found nothing approaching this vituperative language in reference to the horrors that took place in Rwanda, where hundreds of thousands lost their lives. To the contrary, Mr. Burns was throughout cautious and diplomatic.”
    आपराधिक मुकदमे की सहमति दे दी. इससे भी आश्चर्यजनक इस प्रकरण पर गुस्से का प्रसंग था . राज्य विभाग की अनेक सप्ताहों की प्रेस ब्रीफिंग को देखते हुए मुझे कभी नहीं लगा कि इसी प्रकार की गाली गलौज वाली भाषा का इस्तेमाल रवांडा की भयानकता के संदर्भ में हुआ हो जहां सैक़डों और हजारों लोगों ने अपनी जान गंवा दी . इसके विपरीत पूरे समय तक बर्न काफी सतर्क और कूटनीतिक बने रहे.
  7. Indeed, what Yossi Klein Halevi calls “the era of the wink and the hint” has already begun, with Hamas largely desisting from terrorism against Israel during its declared tahdiya (calming down) in 2005, then somewhat moderating its rhetoric in recent weeks; for example, it proposed a 15-year truce with Israel. The makeover shows signs of success: former president Bill Clinton , often an opinion bellwether, has just urged the Bush administration to consider dealing with Hamas. I predict Palestinian-Israeli negotiations will resume their glorious record of bringing good will, harmony, and tranquility, with Israel this time facing a far more determined and clever foe than the blighted Arafat or the hapless Mahmoud Abbas.
    वास्तव में तो जैसा योसी क्लेन हालेवी कहते हैं कि इशारों और संकेतों का दौर तो अभी शुरू हो गया है. हमास ने 2005 में तहदिया (नरम होना) की घोषणा कर आतंकवाद से स्वयं को अलग कर लिया और अपनी लफ्फाजी में भी पिछले सप्ताहों में नरमी लाई है. उदाहरण के लिये इसने इजरायल के साथ 15 वर्षों के युद्ध विराम का प्रस्ताव किया. इस बदलाव में सफलता के चिन्ह दिख रहे हैं. पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन जो प्राय: विचार प्रकट करते हैं, उन्होंने बुश प्रशासन से आग्रह किया है कि बुश प्रशासन को हमास के साथ कार्य व्यापार पर विचार करना चाहिये.
  8. Big smiles between Mitt Romney and Binyamin Netanyahu, friends since 1976, in July 2012. Fourth, as Israel increasingly becomes an issue dividing Democrats from Republicans, I predict a reduction of the bipartisan support for Israel that has provided Israel a unique status in U.S. politics and sustained organizations like the American Israel Public Affairs Committee. I also predict that Romney and Paul Ryan , as mainstream conservatives, will head an administration that will be the warmest ever to Israel , far surpassing the administrations of both Bill Clinton or George W. Bush. Contrarily, should Obama be re-elected, the coldest treatment of Israel ever by a U.S. president will follow.
    चौथा, जैसे जैसे इजरायल डेमोक्रेट और रिपब्लिकन को विभाजित करने का मुद्दा बनता जा रहा है मेरी भविष्यवाणी है कि इजरायल के प्रति दलीय आधार से परे जो समर्थन था और जिसने अमेरिकी राजनीति में और अमेरिकन इजरायल पब्लिक अफेयर्स कमेटी जैसे संगठनों में इजरायल को अभूतपूर्व स्थान प्रदान किया उसमें भी कमी आयेगी। मेरी यह भी भविष्यवाणी है कि रोमनी और पाल रयान मुख्यधारा के परम्परावादी के तौर पर ऐसे प्रशासन का नेतृत्व करेंगे जो कि इजरायल के लिये अब तक का सबसे गर्मजोशी का प्रशासन होगा और यह बिल क्लिंटन और जार्ज डब्ल्यू बुश दोनों को कहीं पीछे छोड देगा। इसके विपरीत यदि ओबामा पुनः निर्वाचित होते हैं तो इजरायल के प्रति किसी भी राष्ट्रपति द्वारा सबसे ठंडा व्यवहार किया जायेगा।
  9. In reaction, Jimmy Carter hemmed like Bill Clinton and hawed like John Kerry. He got bogged down in diplomatic details and lost sight of principles and goals. For example, he responded in part to the embassy takeover by hoping “to convince and to persuade the Iranian leaders that the real danger to their nation lies in the north, in the Soviet Union.” He responded to diplomatic efforts like a technician: “It's up to the Iranians” to make the next move, he said in late 1980. “I think it would certainly be to their advantage and to ours to resolve this issue without any further delay. I think our answers are adequate. I believe the Iranian proposal was a basis for a resolution of the differences.”
    प्रतिक्रिया में जिमी कार्टर ने बिल क्लिंटन और जान केरी की भाँति हिचकिचाहटपूर्ण दृढ़ता दिखाई. वह कूटनीतिक जानकारी में उलझ गये और सिद्धान्त तथा उद्देश्य से भटक गये. उदाहरण के लिये उन्होंने खण्ड-खण्ड में अमेरिकी दूतावास पर कब्जे की घटना पर प्रतिक्रिया की और आशा व्यक्त की कि वे ईरानी नेताओं को समझाने में सफल हो जायेंगे कि उनके देश को असली खतरा उत्तर में सोवियत यूनियन से है. उन्होंने तकनीकी अन्दाज में कूटनीतिक प्रयासों पर प्रतिक्रया की कि अगला कदम उठाने की जिम्मेदारी ईरानियों पर है . उन्होंने 1980 के अन्त में कहा “मुझे लगता है कि बिना अधिक देर किये मुद्दे को सुलझा लेना हमारे और उनके दोनों के हित में होगा. मुझे लगता है कि हमारा उत्तर पर्याप्त है. मेरा विश्वास है कि ईरानी प्रस्ताव मतभेद को मिटाने का आधार है.”
More:   Prev  Next


Related Words

  1. bill and coo
  2. bill board
  3. bill book
  4. bill broker
  5. bill clerk
  6. bill counter
  7. bill for
  8. bill for collection
  9. bill gates
  10. bill hook
PC Version
हिंदी संस्करण


Copyright © 2023 WordTech Co.